पद्मावती फिल्म के लिए आयी फिर सबसे बुरी खबर, फिल्मजगत जगत में फिर पसरा मातम

नई दिल्ली : पद्मावती फिल्म को लेकर काफी लम्बे समय से देशभर में विवाद चल रहा है. कई संगठनों के ज़ोरदार प्रदर्शन को देखते हुए. इस फिल्म को अब तक पांच राज्यों में बैन कर दिया गया है. सभी का मानना है कि इसमें इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गयी है. जबकि बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने इस फिल्म का स्वागत करते हुए भंसाली को न्योता दिया था कि आइये हम बंगाल में दिखाएंगे फिल्म. लेकिन एक बार फिर पद्मावती फिल्म के लिए सबसे बुरी खबर आयी है, जिसे देख भंसाली भी दंग हो जाने वाले हैं.




पद्मावती फिल्म के लिए सबसे बुरी कहबर
अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक जहाँ एक तरफ फिल्म जगत के लोग आस लगाए बैठे हैं कि फिल्म कब रिलीज़ होगी. वही दूसरी तरफ पद्मावती फिल्म फिर से बड़ी मुसीबत में फंस गयी है.ऐसा लगता है कि फिल्म को जल्द ही सेसंर बोर्ड से सर्टिफिकेट नहीं मिलने वाला है. क्योंकि सेंसर बोर्ड ने पद्मावती फिल्म को एक बार फिर से वापस लौटा दिया है. इस हफ्ते सेंसर बोर्ड फिल्म को देखने वाला था, लेकिन फिल्म तो छोड़िये, नए विवाद की जड़ फिल्म के शुरू में आने वाला डिस्क्लेमर बताया जा रहा है.

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से जुड़े सूत्र ने बताया – हम ज्यादा विवरण का खुलासा नहीं कर सकते हैं. मगर नए डिसक्लेमर ने एक पूरी नई बहस शुरू कर दी है कि किस तरह फिल्म को देखने और प्रमाणित किए जाने की जरुरत है.इस समय हम केवल इतना बता सकते हैं कि यह एक जटिल प्रक्रिया है जिसमें विशेषज्ञों के हस्तक्षेप की आवश्यकता है.इससे पहले भी बोर्ड फिल्म को वापस लौटा चुका है.

 

दूसरी ओर महिला मोर्चा का कहना है कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर बैन लगाया जाना चाहिए. महिला मोर्चा का कहना है कि पर्यटन उन्मुख राज्य जैसे कि गोवा कानून व्यवस्था से संबंधित खतरा नहीं उठा सकता है. जिसके बाद मनोहर पर्रिकर ने कहा कि वो इस मांग पर तभी ध्यान देंगे जब फिल्म को सेंसर बोर्ड सर्टिफिकेट दे देगा.

Loading…


तो वहीँ फिल्म को विवादों में घिरता देख फिल्मबाज़ को देश में असहिष्णुता दिखनी शुरू हो गयी है. अभी कुछ वक़्त पहले ही हमने आपको डी डी भारती.इन पर बताया था कि कैसे कुछ फिल्मबाज़ों ने tweet कर लिखा था कि हमें अपने भारतीय होने पर ही आज शर्म आ रही है. तो एक फिल्मबाज़ ने विवाद को बेफिज़ूल का बताया और रानी पद्मावती को काल्पनिक महिला तक बता दिया था.






तो वहीँ अब इस विवाद में कंगना रनौत भी कूद पड़ी हैं. कंगना ने कहा कि फिल्म पर हुए विवाद को सब अपने हिसाब से भुनाने में लगे हैं. कंगना ने कहा कि इस विवाद को लेकर जो भी कुछ हो रहा था, वह मुझे नाटक जैसा लग रहा था. हालाँकि इससे पहले वह पद्मावती विवाद पर दीपिका पादुकोण को सपोर्ट करने से मना कर चुकी हैं.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

Loading…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *