पाकिस्तान में घुस के मारने के बाद सैनिकों को पीएम मोदी ने दिया ऐसा ज़बरदस्त इनाम, बिपिन रावत भी हुए हैरान..

देश के जवानों पर हर एक नागरिक जितना गर्व करे उतना कम है. वे अपनी जान हथेली पर रख कर बुरे से बुरे हालात में कभी उबलती हुई गर्मी में तो कभी खून जमा देने वाली ठण्ड में भी सीमा पर दुश्मनों को मौत के घाट उतारते हैं और हमारी रक्षा करते हैं.

ऐसे में हमारी सरकार को भी चाहिए कि उन्हें अच्छी से अच्छी सुविधा दी जाय. पिछली कांग्रेस सरकार जहाँ हथियारों के मामलों में घोटाले करती रहती थी. सेना के जवान पिछले 15 सालों से आधुनिक हथियार मांग रहे हैं लेकिन कांग्रेस सोती रही और जवानों को उन्ही पुराने हथियारों से लड़ना पड़ा.




जबकि मोदी सरकार में जवानों के लिए 1 लाख आधुनिक असाल्ट राइफल की तत्काल खरीद को मंजूरी दे दी गयी है. साथ ही जवानों के भत्ते को दोगुना कर दिया गया है और सीमा पर खुली छूट जिससे आज हर दूसरे दिन सीमा पार जाकर पाकिस्तान के सैनिकों को घुस के मार रहे हैं हमारे जवान.

लेकिन फिर भी कई लोगों को शिकायत रहती है कि मोदी जी अर्धसैनिक बलों के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं. तो लीजिये अब इस बार सैनिकों के साथ अर्धसैनिकों को भी मोदी सरकार ने जबरदस्त तोहफा दे दिया है.

सीमा पार घुस के मारने के बाद सैनिकों को मोदी सरकार का ज़बरदस्त तोहफा

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक देश में दुर्गम इलाकों में तैनाती के लिये अब अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को अब आने-जाने में कठिनाई का सामना नहीं करना होगा. यानी कि अर्धसैन्य बलों के जवानों को अब घर जाने के लिए हवाई यात्रा की सुविधा मिलेगी. एक सप्ताह के भीतर गृहमंत्रालय की एअर कोरियर सेवा शुरू हो जाएगी. एलटीसी लेकर छुट्टी पर घर जाने वाले जवान साल में दो बार इसका फायदा उठा पाएंगे.






पिछली लचर सरकार की वजह से हमारे देश के जवानों को लम्बी दुरी तक, धक्के खाते हुए, परेशानी झेलते हुए ट्रेनों में ठूस ठूस कर भेजा जाता था. कभी जवानों की सुख सुविधओं के लिए सोचा नहीं. लेकिन मौजूदा मोदी सरकार में जवानों को हर सहूलियत दी जा रही है.

मोदी सरकार की इस योजना के तहत जवानों के लिए सरकार बाकायदा एयर इंडिया का विमान किराये पर लेगी. फिलहाल यह सुविधा कश्मीर और पूर्वोत्तर यानी भारत के दुर्गम इलाकों में तैनात अर्द्धसैनिक बल के जवानों को ही दी जाएगी. आपको बता दें यहां तैनात जवानों को ड्यूटी से छुट्टी पर जाने के लिए काफी समय जाया करना पड़ता था.

सैनिकों के परिवार को भी मिलेगी सुविधा

हवाई सेवा शुरू होने से समय की बचत होगी. मंत्रालय के सामने परिवार के लोगों के लिए भी साल में कम से कम एक बार एयर कोरियर सुविधा शुरू करने का प्रस्ताव है. लेकिन अभी इसे मंजूरी नहीं दी गई है. सूत्रों ने कहा कि परिजनों के लिए प्रस्ताव पर अभी विचार चल रहा है.

गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि लेह-लद्दाख और पूर्वोत्तर के सुदूर इलाकों में यातायात के पर्याप्त साधन नहीं हैं. यहां तैनात जवानों को आने-जाने में हफ्तों लग जाते हैं और काफी तकलीफ उठानी पड़ती है. जबकि वे दुर्गम इलाकों में देश की सीमाओं की सुरक्षा में तैनात होते हैं.

जवानों की इन्ही मुश्किलों को समझते हुए मोदी सरकार ने उन्हें आने-जाने की सहूलियत देने के लिए हवाई सफर की सहूलियत देना भी शुरू करने का फैसला लिया है. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अभी किराये पर लिए विमान से केवल अर्द्धसैनिक बल ही आ जा सकेंगे. जल्द ही सभी जवनाओं के लिए ये सुविधा लागू की जाएगी. इनमें भी पहली, दूसरी और तीसरी बार यात्रा करने वाले जवानों को वरीयता दी जाएगी.




इससे भी बड़ी खबर सुन आपको और ख़ुशी होगी कि इस हवाई सेवा का लाभ अर्द्धसैनिक बल के जवानों के साथ-साथ राहत और बचाव कार्य में लगे एनडीआरएफ के जवान और खुफिया ब्यूरो के अधिकारी भी उठा सकेंगे. वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस पर काम शुरू कर दिया गया है। यही नहीं, गृहमंत्रालय ने 2018 के पहले सात महीने के दौरान एयर इंडिया को किराया देने के लिए 109.84 करोड़ रुपये की रकम भी मंजूर कर दी है.

जिन सेक्टरों में विमान सेवा उपलब्ध होगी उनमें दिल्ली-लेह-दिल्ली, दिल्ली-जम्मू-श्रीनगर-जम्मू-दिल्ली, दिल्ली-डिबरूगढ़-गुवाहाटी-दिल्ली, कोलकाता-इंफाल-कोलकाता, कोलकाता-अगरतला-कोलकाता, कोलकाता-आइजॉल-कोलकाता और कोलकाता-सिलचर-कोलकाता शामिल हैं.

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *