पीएम मोदी ने कांग्रेस को ऐसे चटाई धूल, खिलखिलाते सिद्धू के उड़े गये होश, राहुल गाँधी समेत पूरा विपक्ष सन्न…

अभी गुजरात और हिमाचल के चुनाव के नतीजे आये जिसमें गुजरात में एक बार फिर 22 साल बाद भी भाजपा को बहुमत मिला तो हिमाचल में कांग्रेस को बीजेपी के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा. इन दो बड़े राज्य में जीत दर्ज करने के बाद बीजेपी जहाँ 19 राज्यों में सत्ता में है वहीँ कांग्रेस सिर्फ 4 राज्यों में सिमट कर रह गयी है.

तो वही इस बीच अब पंजाब में भी बीजेपी अकेले अपने दम पर मज़बूत नींव बना रही है, चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव के नतीजे आ गए हैं, जिसने हवा में उड़ रही कांग्रेस को ज़मीन पर ला कर पटक दिया है.




आ गए चंडीगढ़ नगर निगम के चुनाव के नतीजे

पंजाब के चुनाव में कांग्रेस को बड़ी जीत मिली थी साथ ही बीजेपी और अकालीदल के गठबंधन को करारी हार का सामना करना पड़ा था. जिसके बाद कांग्रेस के नवजोत सिंह सिद्धू ने खिलखिलाते हुए इसे लोकतंत्र की जीत और राहुल गाँधी को पीएम घोषित किया था. लेकिन अब बीजेपी अपने अकेले के दम पर एक बार फिर खड़ी हो गयी है और चंडीगढ़ के नगर निगम चुनाव में कांग्रेस को ही धूल चटा दी है.

अभी मिल रही ताज़ा खबर के मुताबिक दमदार संख्या बल के बावजूद बड़े ट्विस्ट से गुजरी बीजेपी को चंडीगढ़ नगर निगम के मेयर पद के चुनाव में बम्पर जीत मिली है.

बीजेपी सांसद किरण खेर की पसंद देवेश मौदगिल मेयर बन गए हैं. इसी तरह सीनियर डेप्युटी मेयर पद पर भी बीजेपी के गुरप्रीत सिंह ढिल्लों और डेप्युटी मेयर पद पर बीजेपी के विनोद अग्रवाल ने कमल खिला दिया है.

बीजेपी के मोदगिल को 22 वोट मिले जबकि कांग्रेस प्रत्याशी देवेंद्र सिंह बाबला को केवल पांच वोट ही मिले हैं. ढिल्लों को कांग्रेस प्रत्याशी शीला फूल सिंह के छह वोटों के मुकाबले 21 वोट मिले. अग्रवाल को कांग्रेस प्रत्याशी रविंदर कौर के चार वोटों के मुकाबले 22 वोट मिले जबकि एक वोट अमान्य घोषित कर दिया गया.




आपको बता दें इस बार निगम इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि मनोनीत पार्षदों ने वोट नहीं डाले. क्योंकि पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने अगस्त 2017 को उनके वोट देने के अधिकार पर रोक लगा दी थी.

कांग्रेस को उसी के गढ़ में हराने के बाद अब बीजेपी का आत्मविश्वास कई गुना बढ़ गया है. तो वहीँ कांग्रेस की हार का सिलसिला है कि थमने का नाम ही नहीं ले रहा. कांग्रेस यहाँ चुनाव पर चुनाव हारती जा रही है और कांग्रेस के नए अध्यक्ष राहुल गाँधी विदेश यात्रा पर चले गए हैं.

इससे ये बात साबित होती है कि पंजाब चुनाव हारने के बाद भी बीजेपी का हौसले नहीं टूटे हैं और एक बार फिर बीजेपी पंजाब में खड़ी हो रही है और कांग्रेस को कड़ी टक्कर दे रही है.

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *