पीएम मोदी ने कर दिखाया एक और बड़ा करिश्मा, विश्व बैंक ने दी बेहद चौंकाने वाली रिपोर्ट, कांग्रेस भी रह गयी दंग..

भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर हर बार मोदी सरकार पर हमला करने वाली कांग्रेस पार्टी को वर्ल्ड बैंक से ज़ोरदार झटका लगा है. गुजरात चुनाव में कांग्रेस और कुछ बीजेपी के ही शैल्य मानसिकता वाले लोगों ने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर हर दिन हमले किये और अर्थव्यवस्था को डूबता हुआ बताया. लेकिन इस बीच खुद वर्ल्ड बैंक ने भारत और मोदी सरकार को लेकर रिपोर्ट जारी कर दी है.

भारत और मोदी सरकार की क्षमता का कायल हुआ विश्व बैंक




अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक वर्ल्ड बैंक भारत की क्षमता का कायल हो गया है. हर तरफ से अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर उठ रही उंगली के बाद अब बड़ी राहत की खबर आयी है. वर्ल्ड बैंक ने कहा है कि इस महत्वाकांक्षी सरकार में हो रहे व्यापक सुधार उपायों के साथ भारत में दुनिया की दूसरी उभरती अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में विकास की कहीं अधिक क्षमता है.

भ्रष्टाचार व् कालेधन को ख़त्म करने के साथ देश को विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ाने के लिए पीएम मोदी लगातार बड़े-बड़े आर्थिक फैसले ले रहे हैं. पहले नोटबंदी करके कालेधन को रद्दी के ढेर में तब्दील करने के बाद पीएम मोदी ने जीएसटी जैसे बड़े आर्थिक बदलाव को लागू किया. मगर कांग्रेस समेत सभी विपक्षी पार्टियों ने पीएम मोदी के इन फैसलों को लेकर कीचड उछाला. लेकिन अब अंतर्राष्ट्रीय संगठन भारत के इस बड़े कदम की सराहना कर रहे हैं.

वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में भारत की अर्थव्यवस्था सबसे अच्छी

वर्ल्ड बैंक ने 2018 ग्लोबल इकनॉमिक प्रॉस्पेक्ट रिलीज किया है. जिसमे वर्ल्ड बैंक ने बुधवार को 2018 के लिए भारत की विकास दर के 7.3 फीसदी पर रहने का अनुमान जताया है। यही नहीं, विश्व बैंक के अनुमान के मुताबिक भारत अगले दो सालों में 7.5 फीसदी की दर से आगे बढ़ सकता है.

वर्ल्ड बैंक के डिवेलपमेंट प्रॉस्पेक्ट्स ग्रुप के डायरेक्टर आइहन कोसे ने कहा, ‘अगले दशक में भारत दुनिया की दूसरी किसी उभरती अर्थव्यवस्था की तुलना में उच्च विकास दर हासिल करने जा रहा है।’. उन्होंने कहा कि शॉर्ट टर्म आंकड़ों पर उनका फोकस नहीं है. भारत की जो बड़ी तस्वीर बन रही है वह यही बता रही है कि इसमें विशाल क्षमता है.

चीन के लिए आयी बुरी खबर

इसके साथ ही वर्ल्ड बैंक ने भारत के पडोसी चीन के लिए बुरी खबर भी सुनाई. वर्ल्ड बैंक ने धीमी पड़ती चीनी अर्थव्यवस्था से तुलना करते हुए कहा कि भारत विकास के रास्ते पर आगे बढ़ेगा.

अगर भारत के पड़ोसी देश चीन की बात की जाए तो वर्ल्ड बैंक का कहना है कि साल 2017 में चीन की विकास दर 3.8 फीसदी थी जो भारत की तुलना में एक फीसदी अधिक थी.वहीं साल 2018 में चीन की विकास दर 6.4 फीसदी रहने की संभावना है. जो आने वाले दो सालों में और ज़्यादा घटेगी.

वर्ल्ड बैंक ने भारत के जनसांख्यिकी प्रोफाइल की भी तारीफ की और कहा कि दूसरी अर्थव्यवस्थाओं में ऐसा कम ही देखने को मिलता है. हालांकि वर्ल्ड बैंक ने दूसरी उभरती अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भारत में महिला श्रम की हिस्सेदारी कम होने की बात कही है.




वर्ल्ड बैंक ने कहा कि भारत के सामने बेरोजगारी घटाने जैसी चुनौतियां हैं. भारत अगर इन चुनौतियों से निपटने में सफल रहा तो वह अपनी क्षमता का इस्तेमाल कर पाएगा. कोसे ने अगले दशक में भारतीय विकास दर के 7 फीसदी रहने का अनुमान जताया है.

कांग्रेस के अर्थशास्त्रियों को सता रहा है डर

लेकिन देश में ही बैठे विपक्षी पार्टी कांग्रेस और उनके घोटालों में फंसे अर्थशास्त्रियों के पसीने छूट जाते हैं ऐसी रिपोर्ट देखकर. उन्हें डर सताने लगता है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो कहीं अगले 20 साल तक वे सत्ता में वापस नहीं आ पाएंगे. इसलिए झूठ और भ्रम लोगों के बीच फैलाया जाय और ज़्यादा से ज़्यादा और बड़ा से बड़ा महागठबंधन किया जाय जिससे सत्ता फिर हासिल हो सके.

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *