नवाज़ के गिरफ्तार होते ही दहल उठा पाकिस्तान, हुआ मौत का खौफनाक तांडव, मच रही चीख पुकार, सन्न हुए नवाज़ शरीफ

नई दिल्ली : पाकिस्तान में चुनावी दौर शुरू हो गया है इसी तैयारियां सभी राजनैतिक पार्टियों ने शुरू कर दी है और आतंकवादियों ने भी अपनी तैयारियां ज़ोर शोर से शुरू कर दी है. क्यूंकि इस बार हाफिज सईद भी चुनाव में हिस्सा ले रहा है. तो वहीँ सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ को दस साल और पूरे परिवार को भी कई साल की सजा सुना दी है. तो वहीँ इस बीच आज नवाज़ की गिरफ़्तारी के बीच बड़ा हमला हुआ है खून की नदी सी बह रही है.





अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक नवाज़ शरीफ की गिरफ़्तारी के बाद से पूरे पाकिस्तान में अफरा तफरी से मची हुई है. इस बीच आतंकवादियों ने बड़ी चुनावी रैली को निशाना बनाकर खून की होली खेल दी है. पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की गिरफ्तारी से ठीक पहले शुक्रवार को चुनावी रैलियों को निशाना बनाकर किये गये धमाकों में 133 लोगों की मौत हो गई जबकि 125 अन्य लोग घायल हुए हैं.

आतंकियों ने बलूचिस्तान प्रांत के मासतुंग क्षेत्र में बलूचिस्तान अवामी पार्टी (BAP) के नेता सिराज रायसानी की रैली को निशाना बनाया..
जिला पुलिस अधिकारी मोहम्मद अयूब अचकजई ने कहा कि रायसानी घायल हो गए थे और उन्हें क्वेटा ले जाया जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. रायसीनी बलूचिस्तान के पूर्व मुख्यमंत्री नवाब असलम रायसानी के भाई हैं. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट समूह (ISIS) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है.

बलूचिस्तान के कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री फैज काकर ने बताया, ‘शुरुआत में मृतकों की संख्या अधिक नहीं थी लेकिन रायसानी समेत गंभीर रूप से घायल लोगों की अस्पताल में मौत हो गई.’ उन्होंने बताया कि मृतकों की संख्या और भी बढ़ने की आशंका है क्योंकि धमाकों में 120 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं.

 

बम निरोधक दस्ते (बीडीएस) के अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है यह एक आत्मघाती हमला था. उन्होंने बताया कि हमले में लगभग 16-20 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था. इस घटना के बाद क्वेटा के अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई.




इस घटना से कुछ ही घंटे पहले खैबर पख्तूनख्वा के बन्नू इलाके में मुत्ताहिदा मजलिस अमाल नेता अकरम खान दुर्रानी की रैली में विस्फोट हुआ. पुलिस के अनुसार इस घटना में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि 37 अन्य घायल हो गए. इस हमले में दुर्रानी बाल-बाल बच गए लेकिन उनके वाहन को नुकसान हुआ है.

दुर्रानी 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव में पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पार्टी (PTI) के प्रमुख इमरान खान के खिलाफ मैदान में हैं. उन्होंने कहा कि धमकियों के बाद भी वह चुनाव प्रचार जारी रखेंगे. चुनाव के पहले अचानक ही कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ गई है. हालांकि सरकार और सुरक्षा बलों का दावा है कि आतंकवाद का देश से सफाया हो गया है.

राष्ट्रपति ममनून हुसैन और प्रधानमंत्री नसीरूल मुल्क ने इन हमलों की निंदा की है. बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं.

loading…


admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.