कश्मीर में आतंकवादियों का काल बनकर उतरी सेना, रौद्र रूप धर घाटी में मचाया तांडव, पत्थरबाजों में पसरा मातम

नई दिल्ली : कश्मीर घाटी में एक बार फिर आतंक के बादल हटा कर शांति स्थापित करने के लिए भारतीय सेना ने कमर कस ली है. मिशन आल आउट और ऑपरेशन caso की मदद से हर दिन आतंकियों का काल बनकर सेना कट्टरपंथियों को आज़ादी बाँट रही है. इन लोगों ने ही कश्मीर में जिहाद की बीमारी को फैला कर रखा था. लेकिन अब फंडिंग बंद हो जाने से कीड़ों की तरह अपने बिल से बाहर निकल रहे हैं. आज सुबह फिर सेना को बड़ी कामयाबी मिली है.


अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक कर शाम को ही भारतीय सेना ने दो आतंकवादियों को मार गिराया था. तो वहीँ आज फिर सुबह सुबह सेना को बड़ी कामयाबी मिली है. जम्‍मू और कश्‍मीर के सोपोर इलाके में आज (शुक्रवार) सुबह सेना ने बड़ा एनकाउंटर किया है. इस एनकाउंटर में अब तक दो आतंकवादी मारे गए हैं. सुरक्षाबलों को इलाके में दो आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी. इसी के बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर कर बड़ा ऑपरेशन चलाया.

इसी के तहत दो आतंकियों को मार गिराया गया है. साथ ही इलाके में तलाशी अभियान भी चलाया जा रहा है. यह मुठभेड़ सोपोर जिले के ड्रुसू गांव में हुई. मौके पर बड़ी संख्‍या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. इस ऑपरेशन में 179 बटालियन सीआरपीएफ, 29 राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की स्‍पेशल फोर्स के बहादुर जवान भी शामिल हैं.

 

बता दें अभी कल शाम को ही आतंकवादी बड़ी घटना को अंजाम देने जा रहे थे लेकिन खुद ही अपने अंजाम पर पहुंच गए. गुरुवार को आतंकियों ने अनंतनाग के बराकपोरा स्थित जेएंडके बैंक की शाखा धावा बोल कर वहां तैनात सुरक्षा गार्ड से उसकी राइफल लूट कर फरार हो गए. सेना ने आतंकियों का पीछा करके 2 आतंकियों को मार गिराया.

जम्मू और कश्मीर बैंक की शाखा में रोजाना की तरह कामकाज चल रहा था. दोपहर बाद कुछ नकाबपोश लोगों ने बैंक पर हमला कर दिया. इन लोगों ने बैंक में मौजूद लोगों को हथियारों के बल पर डरा-धमकाकर वहां तैनात सुरक्षागार्ड से उसकी राइफल छीन ली और फरार हो गए बराकपोरा के जंगलों में संदिग्धों को देख सेना ने उन्हें ललकारा तो आतंकियों ने जवाब में सेना पर फायरिंग करनी शुरू कर दी. सेना ने भी आतंकियों की गोलीबारी का कड़ा जवाब दिया. दोनों तरफ से हुई फायरिंग में 2 आतंकी मारे गए.

इससे साफ़ पता चलता है कि कश्मीर में आतंकवादियों पर दस साल में पहली बार सही नकेल कसी गयी है इस बार ना तो पैसा मिल पा रहा है और ना ही हथियार . इसीलिए बैंक को लूटने और गार्ड से हथियार छीनने की असफल कोशिश की गयी थी. इसी तरह कश्मीर में सख्ती लागू रहे तो बस आतंक का खात्मा अब नज़दीक ही है.

loading…


admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.