बंगला तोड़फोड़ कांड पर आयी 266 पन्ने की जांच रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, अखिलेश के खिलाफ दिए करवाई के आदेश, देशभर के नेता हैरान

लखनऊ : पहले तो एक डेढ़ साल तक उत्तरप्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश,मुलायम, मायावती ने सरकारी बंगला खाली नहीं किया उसके बाद जब सुप्रीम कोर्ट का डंडा चला तो अंदर की भड़ास निकालने के लिए अखिलेश ने पूरे शानदार बंगले को तोड़फोड़ करके खँडहर बना दिया, टोटी नहीं, टाइल नहीं पाइप नहीं लाइट नहीं, टॉयलेट सीट नहीं. ऐसा लगा ही नहीं वहां कोई कभी रहता भी था.

 

इसके बाद सीएम योगी और उपराज्यपाल ने जांच रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे. आज वो पूरी 266 पन्नों की जांच रिपोर्ट आ गयी है जिसमे अखिलेश यादव ने क्या क्या बंगले में कांड किये हैं उस सबका बेहद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. साथ ही अखिलेश के खिलाफ योगी ने भी बड़ा फैसला लिया है.

Loading…

बंगला तोड़फ़ोड़ कांड पर आयी जांच रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

अभी मिल रही बहुत बड़ी खबर के मुताबिक सरकारी बंगले में हुई तोड़फोड़ सामने आने के बाद सभी की निगाहें जांच रिपोर्ट पर टिकी हुई थी. तो वहीँ आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के पिछले सरकारी बंगले कांड पर लोक निर्माण विभाग और राज्य सम्पत्ति विभाग ने अपनी जांच रिपोर्ट तैयार कर ली है. इस रिपोर्ट के मुताबिक अखिलेश यादव ने बंगला खाली करते समय करीब 10 लाख रूपए से ज़्यादा का नुक्सान किया है.
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

अब राज्य सम्पत्ति विभाग ने इस रिपोर्ट को सीएम योगी के पास दफ्तर भेज दिया है. बंगला तोड़फोड़ विवाद में जांच समिति ने पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को सरकारी आवास में तोड़फोड़ के लिए जिम्मेदार ठहराया है.

आम जनता के टैक्स के पैसे को पानी की तरह बहाया

लोक निर्माण विभाग द्वारा तैयार की गई यह जांच रिपोर्ट में 266 पन्ने हैं. जिसमे बंगले मे किये गये निर्माण कार्य की विस्तृत जानकारी दी गई है. इसमें आप देखिये किस तरह आम जनता के टैक्स के पैसे को पानी की तरह बहाया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक बंगले के निर्माण, सौंदर्यीकरण और मरम्मत पर सरकारी विभागों द्वारा कुल मिलकर 5 करोड़ 57 लाख 86 हजार रुपये खर्च किये गये हैं. निर्माण कार्यों के हिसाब से बंगले मे सर्वेंट क्वाटर, अतिथि ग्रह, रिशेप्शन, पाथवे समेत कई कार्यों पर निर्माण विभाग और राज्य संम्पत्ति विभाग ने लाखों रुपये खर्च किये.

 

 

अधिकतर नुकसान टाइल्स टूटने व टोटी और पाइप आदि गायब होने का दर्शाया गया है. सूत्रों के मुताबिक, कार्रवाई करते हुए अब इसकी भरपाई के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश को योगी सरकार नोटिस भेजेगी. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर चार विक्रमादित्य मार्ग स्थित सरकारी बंगले को खाली करते समय तोड़फोड़ की गई थी. ऐसे में नुकसान का आंकलन करने के लिए लोक निर्माण विभाग की पांच सदस्यीय टीम लगायी गई थी.

Loading…

अखिलेश से वसूले जाएंगे !

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक राज्य संम्पत्ति विभाग नुकसान के आंकलन के बाद इसकी भरपाई के लिये पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को नोटिस भेज कर उनसे वसूला जाएगा. तो वहीँ अब समाजवादी पार्टी के एमएलसी और प्रवक्‍ता सुनिल सजन ने कहा कि बीजेपी यूपी में चार उपचुनाव हार चुकी है. इसलिए अपनी खीझ मिटाने के लिए और अखिलेश यादव को बदनाम करने के लिए लिए ये सब कर रही है.

पूरे परिवार समेत लंदन यात्रा पर निकले

गौरतलब है कि यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सरकारी बंगला खाली करने के बाद जब सरकारी महकमे को मिली थी तो पता चला कि बंगले में एसी की फिटिंग समेत तमाम चीज़ें उखाड़ी हुईं हैं. सोशल मीडिया पर जो तस्वीरें वायरल हो रही हैं, उसमें दिख रहा है कि बंगले की टाइल्स उखड़वाई गई हैं. साथ ही एसी समेत कई चीजों को घर से निकाल लिया गया. यहां तक की बिजली बोर्ड और स्विच भी गायब मिले. यहां तक कि टॉयलेट की सीट तक उखड़ी हुई मिली और इसके बाद अखिलेश पूरे परिवार समेत ऐश करने लंदन चले गए दो हफ़्तों के लिए.

इसके अलावा बंगले में बना जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बैडमिंटन कोर्ट और साइकल ट्रैक तोड़ दिया गया। पीडब्ल्यूडी के इंजिनियरों ने रिपोर्ट के साथ राज्य सम्पत्ति विभाग को एक सीडी भी दी है। इसमें बंगले की स्थिति की विडियोग्राफी है.
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

loading…


admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.