आप NRC की ख़बरों में व्यस्त हैं, वहीँ आ गए महाराष्ट्र निकाय चुनाव के बेहद चौंकाने वाले नतीजे, शिवसेना NCP कांग्रेस में मची खलबली

नई दिल्ली : मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर तो बिना मतदान किये शिवसेना विश्वासघात करके निकल गयी थी. साथ ही हर दूसरे दिन पीएम मोदी कभी सीएम योगी की बुराई करने से भी पीछे नहीं हट रही थी. कभी मोदी की विदेश यात्रा को लेकर तो कभी उनकी योजनाओं को लेकर शिवसेना ने जमकर हमला बोला . लेकिन नागपुर कॉउन्सिल के बाद अभी अभी महाराष्ट्र निकाय चुनाव के भी बड़े चौंकाने वाले नतीजे सामने आ गए हैं जिससे अब शिवसेना को बड़ा पछ्तावा महसूस हो रहा होगा.

 

अभी अभी आये महाराष्ट्र निकाय चुनाव के नतीजे

अभी मिल रही बहुत बड़ी खबर के मुताबिक महाराष्ट्र की सांगली और जलगांव महानगर पालिका चुनाव के अभी अभी नतीजे सामने आ गए हैं. राहुल गाँधी के कांग्रेस का अध्यक्ष बनने के बाद एक बार फिर सिर्फ मोरल विक्ट्री उनके हाथ लगी है और चुनाव में फिर से भारतीय जनता पार्टी का परचम लहरा उठा है.
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

बता दें कि दोनों महानगर पालिकाओं की 153 सीटों पर 754 उम्मीदवार उतरे थे. सांगली में 78 और जलगांव में 75 सीटों के लिए मतदान हुआ था. जिनके आज नतीजे आने थे. जलगांव और सांगली- मिरज- कुपवाड महानगर पालिका चुनाव में लगभग 57 प्रतिशत मतदान हुआ था. इन चुनावों में महाराष्ट्र में प्रमुख विपक्षी दल की भूमिका निभा रही कांग्रेस और एनसीपी ने गठबंधन किया था. वहीं, सत्तारूढ़ बीजेपी और शिवसेना अलग-अलग चुनाव लड़ी थी.

5 बजे तक हुई मतगणना के मुताबिक दोनों ही महानगर पालिकाओं में बीजेपी के मेयर बनने का रास्ता साफ हो गया है. सांगली की 78 सीटों में से 41 सीटें बीजेपी ने जीत ली हैं तो वहीं जलगांव की 75 सीटों में 57 सीटों पर भी बीजेपी ने रेकॉर्डतोड़ ऐतिहासिक जीत दर्ज करी है.

शिवसेना को एक भी सीट नहीं मिली

पांच बजे तक हुई मतगणना के मुताबिक सांगली महानगरपालिका चुनाव में बीजेपी की बड़ी जीत हासिल की है. यहां से बीजेपी ने कांग्रेस के किले को ढहा दिया है. बीजेपी ने 78 में से 41 सीटें जीत कर स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है. आपको बता दें कि कांग्रेस को 20 और एनसीपी को 15 सीटों पर जीत मिली है. जबकि शिवसेना को एक भी सीट पर जीत नहीं मिली है.

loading…



आपको बता दें कि सांगली मिरज महानगरपालिका बनने के बाद से ही इस पर कांग्रेस का कब्जा था. लेकिन इस बार के चुनाव में वह किला ढह गया है. आपको बता दें कि सांगली पश्चिम महाराष्ट्र में आता है. यहां मराठा मतदाता ज्यादा है. कांग्रेस गठबंधन इन चुनावों में जयंत पाटिल के नेतृत्व में चुनाव लड़ रहा था.

कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन का सूपड़ा साफ़

महाराष्ट्र के जलगांव नगर निगम में बीजेपी को एकतरफा जीत मिली है. जलगांव की 57 सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवार जीत गए हैं. जलगांव नगरनिगम की 75 सीटों पर हुए चुनाव में से शिवसेना को कुल 13 सीटों पर जीत हासिल हुई जबकि एमआयएम के 3 उम्मीदवार जीते हैं. यहां से निर्दलीय 2 उम्मीदवार भी जीते हैं. इस नगर निगम में कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन का खाता तक नहीं खुल सका है.

महाराष्ट्र के जलगांव में भाजपा को अब तक की सब से बड़ी जीत मिली है. जलगांव में मुख्यमंत्री फडणवीस के निकटवर्तीय गिरीश महाजन के नेतृत्व की यह बड़ी जीत मानी जा रही है. जलगांव में 75 सीट के लिए मतदान हुआ है. गौरतलब है कि जलगांव सिटी में मराठा वोटर कम हैं. यहां के स्थानीय नेता सुरेश जैन के लिए यह सबसे बड़ा धक्का माना जा रहा है.
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

जलगांव में शिवसेना को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. आपको बता दें कि जलगांव शहर शिवसेना नेता सुरेशदादा जैन का गढ़ रहा है. 20 साल तक सुरेशदादा जैन ने जलगांव नगर निगम पर सत्ता चलाई है. गौरतलब है कि दलबदल करके सुरेशदादा जैन कई पार्टीयों में रहे लेकिन वे शिवसेना में हैं. आंकड़े बता रहे हैं कि उत्तर महाराष्ट्र में बीजेपी की लहर जारी है, यही वजह है कि जलगांव में बीजेपी को भारी जीत मिली हुई है.

loading…


admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.