पीएम मोदी को मिली अबतक की सबसे बड़ी कूटनीतिक जीत, अमेरिका ने माना 56 इंच सीने का जलवा, राहुल गाँधी रह गए हैरान परेशान

नई दिल्ली : पीएम मोदी ने 2014 में सत्ता में आते ही बड़ी बात कही थी कि ‘ना हम आँख झुका कर, ना आँख उठाकर …हम बात करेंगे आखों में आखें डालकर’. तो अब यही बात पीएम मोदी की सही साबित होती दिख रही है. अमेरिका जैसा शक्तिशाली देश जिसने पुराने समय में कभी भारत पर प्रतिबन्ध लगा दिया था, जो कभी मोदी को वीज़ा देने को राजी नहीं था. आज वही अमेरिका भारत के लिए जो की एक सबसे तेज़ आर्थिक शक्ति है उसके लिए अपना कानून बदल लिया. ये बात पर तो कोई यकीन नहीं करेगा लेकिन है एकदम सच.

Loading…

कभी लगाया था प्रतिबन्ध आज भारत के लिए बदला अमेरिका ने अपना कानून

अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक अमेरिकी संसद ने अभी नया राष्ट्रीय रक्षा विधेयक पास किया है, इसमें कई अहम फैसले लिए गए हैं. अमेरिकी संसद ने खुद भारत के लिए अपने सबसे बड़े कानून में बदलाव किया है. अमेरिका ने भारत के साथ अपने रिश्तों में सुधार और रक्षा भागीदारी पर मुहर लगाते हुए प्रतिबंध कानून से भारत को छूट देने का रास्ता निकाल लिया है. अमेरिकी संसद ने राष्ट्रीय रक्षा विधेयक, 2019 पारित कर सीएएटीएस कानून के तहत भारत के खिलाफ प्रतिबंध लगने की आशंका को खत्म करने का रास्ता निकाल लिया है.
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

आसान भाषा में आपको समझाते हैं दरअसल भारत ज़्यादातर अपने रक्षा सम्बंधित समझौते रूस के साथ ही करता है क्यूंकि रूस ने पुराने मुसीबत के वक़्त में अपने जहाज़ और लड़ाकू विमान से भारत की मदद करी है..लेकिन अमेरिका और रूस में बनती नहीं है ऐसे में भारत के रूस के साथ हथियार लेने और महत्वपूर्ण रक्षा उपकरणों की खरीद के चलते भारत पर आंशिक प्रतिबन्ध लगा हुआ था, जिससे ताक़त मिसाइल डिफेन्स सिस्टम S -400 में रुकावट आ रही थी.

रक्षा विशेषज्ञ – पीएम मोदी को मिली सबसे बड़ी कूटनीतिक जीत

लेकिन आज अमेरिका ने केवल ख़ास भारत के लिए अपने कानून में बदलाव किया है और इस प्रतिबन्ध को पूरी तरह हटा लिया है. अब भारत पूरी आज़ादी से किसी भी तरह के रक्षा समझौते रूस के साथ कर सकता है. रक्षा विशेषज्ञों द्वारा ये पीएम मोदी की विदेश कूटनीति की अब तक की सबसे बड़ी जीत बताई जा रही है.

 

प्रतिबंधों के जरिए अमेरिका के विरोधियों के खिलाफ कार्रवाई कानून (सीएएटीएसए) के तहत उन देशों के खिलाफ प्रतिबंध लगाए जाते हैं जो रूस से महत्वपूर्ण रक्षा उपकरणों की खरीद करते हैं.अमेरिकी कांग्रेस के सीनेट ने 2019 वित्त वर्ष के लिए जॉन एस मैक्केन नेशनल डिफेंस अथॉराइजेशन एक्ट (एनटीएए) (रक्षा विधेयक) 10 मतों के मुकाबले 87 मतों से पारित कर दिया गया. हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स में यह विधेयक पिछले सप्ताह ही पारित हो चुका है. अब यह कानून बनने के लिए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हस्ताक्षर के वास्ते व्हाइट हाउस जाएगा. उसके बाद विधेयक में CAATSA के प्रावधान 231 को समाप्त कर दिया जाएगा.

Loading…

रूस से खतरनाक S -400 मिसाइल सिस्टम लेना होगा आसान

व्हाइट हाउस में राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य रहे जोसुआ व्हाइट ने बताया कि सीएएटीएसए के नये संशोधित प्रावधानों को कानूनी रूप मिलने के बाद भारत के लिए रूस से सबसे ताक़तवर S-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली खरीदना आसान हो जाएगा.

ये पीएम मोदी की मज़बूत विदेश कूटनीति का ही नतीजा है कि आज अमेरिका ने भारत को इतना बड़ा तोहफा दिया है लेकिन कांग्रेस
इस बात को कभी नहीं समझेगा वो हमेशा पीएम मोदी के विदेशी दौरों का मज़ाक उड़ाएंगे. पीएम मोदी के दूसरे देशों के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से गले लगने का मज़ाक उड़ाएंगे. लेकिन आज यही विदेशनीति की वजह से भारत का पीएम मोदी का इतना मान सम्मान पूरी दुनिया में बढ़ा है. किसी ने सही कहा है ‘पूरी दुनिया झुकती है सिर्फ झुकाने वाला चाहिए’
मोदी जी के यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करें

loading…


admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.