राबर्ट वाड्रा का हथियार डीलर दोस्त संजय भंडारी ने लिया बड़ा फैसला,सरकार के साथ मिलकर खोलेगा कांग्रेस के सारे राज़

नई दिल्ली : कुछ दिन पहले भारतीय जनता पार्टी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया था कि कांग्रेस की सरकार के समय राफेल डील में रॉबर्ट वाड्रा और उनके दोस्त संजय भंडारी शामिल होना चाहते थे। अब इस मामले में कांग्रेस और राबर्ट वाड्रा दोनो की मुसीबतें बढ़ने वाली हैं। रिपब्लिक टीवी के मुताबिक रॉबर्ट वाड्रा का दोस्त संजय भंडारी सरकारी गवाह बनकर भारत सरकार को डिफेंस डील में हुई गड़बड़ियों के बारे में सब कुछ सच बताने के लिए तैयार है।


सूत्रों का कहना है कि संजय भंडारी ने एक अन्य हथियार डीलर जो लंदन में रहता है। उसके जरिए इस बात को सरकार तक पहुंचाया है। खबर है कि संजय भंडारी अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को खत्म करवाना चाहता है। इसलिए वो रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ, डिफेंस डील में कौन-कौन लोग थे सब कुछ सरकार के सामने बताना चाहता है।

कुछ दिनों पहले रॉबर्ट वाड्रा और संजय भंडारी के बीच ईमेल के जरिए की गई बातचीत के लगभग 100 पन्नों से भी ज्यादा के ई-मेल रिपब्लिक टीवी के हाथ लगे थे। इन ईमेल में रॉबर्ट वाड्रा और संजय भंडारी के बीच बातचीत का पूरा ब्यौरा है।

ईमेल की बातचीत के आधार पर यह पता चला था कि संजय भंडारी UPA के समय राफेल डील में अपनी कंपनी के लिए ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट चाहता था। रॉबर्ट वाड्रा और संजय भंडारी के बीच की गई बातचीत और फोटो से इन दोनों के बीच के संबंधों का उजाकर होता है।


रिपब्लिक टीवी के मुताबिक, इन ईमेल के जरिए यह भी साफ पता लगता है कि रॉबर्ट वाड्रा ने सुमित चड्ढा से फेवर लिए थे। जो संजय भंडारी का करीबी था। ईमेल के पहले पन्ने में इन दोनों के बीच लंदन में 19 करोड़ के घर की बात हो रही है। जिसे सुमित चड्ढा के द्वारा खरीदा गया था। वहीं दूसरे ई-मेल में चड्ढा, वाड्रा को ईमेल भेजता है, जिसमें वो वाड्रा को उस घर में चल रहे काम के बारे में जानकारी देता है।

इस खबर के सामने आते ही कांग्रेस में हड़कंप मच गया है. संजय भंडारी के भारत वापस आते ही गाँधी परिवार के हथियार सौदों में दलाली खाने के लगभग सभी मामले जनता व् सरकार के सामने आ जाएंगे. ऐसे में कई बड़े कोंग्रेसी नेताओं को जेल यात्रा पर भी जाना पडेगा.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

शेयर करें
  • 143
    Shares
ज़रूर पढ़े:  लगातार तीसरे दिन सेना ने बरसाई मौत, धमाकेदार एक्शन से से खेली खून की होली, सदमे में गए पत्थरबाज, अलगाववादी, महबूबा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*