पेट्रोल-डीजल को लेकर मोदी सरकार ने ले लिया शानदार फैसला जिसका आप सभी को था बेसब्री से इंतज़ार,कांग्रेस की हालत हुई खराब

नई दिल्ली : आज कल देश में पेट्रोल के बढ़ते दामों को कांग्रेस ने अपना चुनावी हथियार बना लिया है. हालाँकि कांग्रेस भूल रही है कि 2010 से 2012 के बीच में इसी कांग्रेस ने पेट्रोल के दाम 26 रूपए बढ़ाये थे और आज यह कांग्रेस भारत बंद कर रही है. इस बीच बहुत बड़ी खबर आ रही है पेट्रोल की ऊंची कीमतों से परेशान देश की जनता को मोदी सरकार ने बड़ी राहत दे दी है.


अभी मिल रही बड़ी खबर के मुताबिक आख़िरकार मोदी सरकार ने आज पेट्रोल डीज़ल के दाम को लेकर आम जनता को काफी हद तक राहत दी है. पेट्रोल पर लग रहे है इस टैक्स को लेकर देश भर की जनता काफी वक़्त से मांग उठा रही थी जिसे आज सुन लिया गया है.

पेट्रोल-डीज़ल को सस्ता करने के लिए सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में 1.5 रुपये प्रति लीटर की कटौती का फैसला लिया है. इस तरह केंद्र सरकार से पेट्रोल और डीजल पर 2.50 रुपये प्रति लीटर की तत्काल राहत देंगी.


जेटली ने कहा, ‘आज अंतरमंत्रालयी बैठक में हमने तय किया कि एक्साइज ड्यूटी 1.50 रुपये घटाया जाएगा। इसके अलावा ऑइल मार्केटिंग कंपनियां (ओएमसी) एक रुपया घटाएंगी। केंद्र सरकार की तरफ से हम 2.50 रुपये प्रति लीटर तुरंत उपभोक्ताओं को राहत देंगे।’ वित्त मंत्री ने राज्यों से भी इतनी ही कटौती करने की गुजारिश की है ताकि ग्राहकों को 5 रुपये की राहत मिले। वित्त मंत्री ने कहा कि कटौती से एक्साइज रेवेन्यू में इस साल 10,500 करोड़ रुपये का प्रभाव पड़ेगा।

जेटली ने कहा कि अमेरिका ने इंट्रेस्ट रेट बढ़ाया है, जिसका बाजार पर असर पड़ा है. अरुण जेटली ने कहा कि ब्रेंट क्रूड बुधवार को चार साल के उच्चतम स्तर 86 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है. बाजार और करंसी बाजार में उतार-चढ़ाव है। कई कदम पहले ही उठाए जा चुके हैं। हमने आईएलऐंडएफएस के बोर्ड का बदल दिया है। हमने आयात पर अंकुश के लिए भी कई कदम उठाए हैं। महंगाई नियंत्रण में है और 4 प्रतिशत से कम पर बनी हुई है। पिछली तिमाही में जीडीपी 8.2 प्रतिशत की दर से बढ़ी है।

अरुण जेटली ने राज्‍य सरकारों से कहा है कि वे भी अपने स्‍तर से पेट्रोल और डीजल के दाम घटाएं। साथ ही उन्‍होंने तेल के बढ़े हुए दामों पर बात करते हुए कहा कि बाहरी दवाबों की वजह से पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं।जेटली ने कहा कि अमेरिका में ब्‍याज दर 3.2 प्रतिशत हो गई है जो कि सबसे ज्‍यादा है। जिसके कारण पूरे विश्‍व के बाजारों पर असर पड़ा है। इसका असर शेयर बाजार और करेंसी मार्केट पर भी पड़ा है.

 

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

शेयर करें
  • 103
    Shares
ज़रूर पढ़े:  मोदी के खिलाफ बड़ी साज़िश का खुलासा , देशभर के 10 राज्यों में एक्शन में आयी ख़ुफ़िया फ़ोर्स, वामपंथियों-कट्टरपंथियों में मची खलबली

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*